इस योजना का उदेश्य है कि वे व्यक्ति जो अपनी मानवता और इंसानियत दिखाते है

दिल्ली के मुख्यमंत्री द्वारा एक अनोखी तरह की स्कीम लांच की गई है परंतु यहां बहुत ही अच्छी पहल है कई बार हम सुनते हैं कि रोड पर हुए एक्सीडेंट में किसी की मृत्यु हो गई है . अगर एक्सीडेंट हुए व्यक्ति को टाइम पर हॉस्पिटल पहुंचा दिया गया होता तो शायद उनकी जान बच जाती. कई बार रोड से गुजरते हुए लोग इस घटना को आंखों से देखते हैं लेकिन कोई भी आगे से उस क्षतिग्रस्त  व्यक्ति को हॉस्पिटल नहीं पहुंचता हैं  क्योंकि  पुलिस की कार्रवाई एवं पुलिस के लफड़े में कोई नहीं पड़ना चाहता . इसी समस्या को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदेश में फरिश्ते दिल्ली के योजना को लांच किया है फिलहाल योजना दिल्ली में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में काम करेगी

लोग आगे से दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों की मदद के लिए आगे आए इसके लिए उन्हें प्रोत्साहन राशि के रूप में सरकार द्वारा ₹2000 दिए जाएंगे, इसी योजना का लाभ किस तरह से लिया जा सकता है? इस बारे में इस आर्टिकल में विस्तार से लिखा गया है .

यह भी देखे :- दिल्ली रोजगार मेला 2020|ऑनलाइन पोर्टल

फ़रिश्ते दिल्ली के योजना से जुड़े मुख्य  बिंदु – Farishte Dilli Ke Key Features

  •  सामान्य जनता को प्रोत्साहित करने हेतु

 लोग दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों की मदद के लिए बिना किसी  चिंता  के आगे आए  और उन्हें समय रहते किसी नजदीकी अस्पताल में पहुंचाएं जिससे उनकी जान बचाई जा सके .

  •  फ्री मेडिकल ट्रीटमेंट

इस कंडीशन में  दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति का इलाज अस्पताल द्वारा मुफ्त में  किया जाएगा जिसका पूरा खर्च सरकार उठाएगी.

  •  मनी रिवॉर्ड

अगर कोई व्यक्ति किसी दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल में पहुंचाता है तो उन्हें प्रोत्साहन के लिए ₹2000 दिए जाएंगे जो कि सरकार की तरफ से दिये जायेंगे

  •  प्रोत्साहन प्रमाण पत्र

योजना के अंतर्गत जो भी व्यक्ति दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की मदद करता है  उसे प्रोत्साहन राशि के साथ-साथ प्रोत्साहन सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा .

  •  कोई लिगल कार्यवाही नहीं होगी

 ऐसी स्थिति में सामान्यतः मददकर्ता व्यक्ति पर भी पुलिस द्वारा कुछ कार्यवाही की जाती है लेकिन सरकार  ने निर्देश दिया है कि किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की जाए ताकि वे मदद करने से कतराये नहीं .

फ़रिश्ते दिल्ली के योजना के अंतर्गत लगने वाले दस्तावेज – Documents

  •  दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति का पहचान पत्र

 जब दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति  स्वस्थ हो जाता है, तब उसे पहचान पत्र देना होगा जिसके अंतर्गत वह वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड जैसे डॉक्यूमेंट दे सकता है, परंतु अगर व्यक्ति की कंडीशन खराब है उस स्थिती में उसके परिवार के  सदस्य इस कार्रवाई को पूरा कर सकते हैं. यह दस्तावेज अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट में जमा कराना होगा .

  • मदद करता व्यक्ति का पहचान पत्र

जिस व्यक्ति ने दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की सहायता की है, उसका भी प्रमाण पत्र अस्पताल के एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट में जमा कराना होगा ताकि उनकी पहचान कर उन्हें रिवॉर्ड दिया जा सके .

यह योजना भी पढ़े :- मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना दिल्ली की पूरी जानकारी देखे

फ़रिश्ते दिल्ली के योजना अप्लाई कैसे करें – How to Apply

 जब भी कोई व्यक्ति दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को अस्पताल में लेकर आता है तो अस्पताल के  द्वारा उस व्यक्ति का नाम उसका पता आदि जानकारी को डिपार्टमेंट द्वारा लिया जाता हैं इस तरह  अस्पताल द्वारा सरकार की मदद की जाती है कि वे उस व्यक्ति तक प्रोत्साहन राशि को पहुंचाएं. इस योजना के लिए अलग से एप्लीकेशन देने का कोई प्रावधान नहीं है .

दिल्ली सरकार द्वारा यह बहुत अच्छी पहल की गई है क्योंकि अगर व्यक्ति बच सकता है और वह केवल अस्पताल टाइम पर ना पहुंचने की वजह से अपनी जान गवा देता है तो यह बहुत ही दुखद बात है . ऐसे में इस तरह की योजना लोगों में उत्साह बढ़ाती हैं और लोग आगे से दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति की मदद के लिए तत्पर होते हैं .