राजस्थान सरकार ने नवजात शिशुओं की सुरक्षा हेतु एक ऐतिहासिक कदम उठाया है। राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री ने नवजात सुरक्षा योजना ( Navjaat Suraksha Scheme ) की घोषणा की है। योजना के जरिए राज्य में समय से पहले जन्मे, कम वजनी और कुपोषित नवजात शिशुओं की सुरक्षा के लिए चिकत्सा के सभी जरूरी इंतजाम किए जाएंगे। इस योजना का लक्ष्य राजस्थान में नवजात बच्चों की म़ृत्यु दर को कम करना होगा। योजना पूरी तरह कामयाब हो इसकी तैयारी भी शुरू की जा चुकी हैं। इस योजना में कैसे आवेदन करना है और कैसे इसका लाभ मिलेगा। हम यह सारी जानकारी आप तक इस लेख के माध्यम से पहुंचा रहे हैं।

यह भी पढे :- श्रमिक / मजदूरी कार्ड (Labour card ) केसे बनवाये

नवजात सुरक्षा योजना | Navjaat Suraksha Yojana

Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana को और बेहतर बनाने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री इसे सरकार की निरोगी योजना के भीतर शामिल करेंगे। ज्ञात हो की इस योजना के भीतर राज्य के सभी नवजात शिशुओं के स्वास्थ्य हेतु न केवल बेहतर इंतजाम किए जाएंगे, बल्कि परिजनो को कंगारू मदर केयर तकनीक के बारे में भी शिक्षित किया जाएगा। साथ ही सरकार समय-समय पर कैंप के जरिए आम जन को स्वास्थ्य हेतु जागरूक भी किया जाएगा।

यह भी पढे :- जन आधार कार्ड योजना राजस्थान

क्या है कंगारू मदर केयर तकनीक

कंगारू मदर केयर एक ऐसी तकनीक है जिसमें मां अपने बच्चे को सीने से लगा कर रखती है और इसके कारण मां के शरीर की गर्मी बच्चे के शरीर तक पहुंचती है जिसकी वजह से बच्चा ठंडे बुखार का शिकार होने से बच जाता है। साथ ही आम जन को शिशुओं के स्वास्थ्य हेतु जागरुक करने के लिए कंगारू मदर केयर कैंप का भी आयोजन समय समय पर कराया जाएगा। नवजात सुरक्षा योजना में इस तकनीक को शामिल करने के पीछे का काऱण यह है कि इस तकनीक में न तो कोई पैसा खर्च होता है और शिषु साधारण तरीके से स्वास्थ्य भी रहता है।

नवजात सुरक्षा योजना राजस्थान का उद्देश्य

नवजात सुरक्षा योजना का मुख्य उद्देश्य यह होगा कि किसी भी तरह नवजात शिशुओं की मृ्त्यु दर को कम किया जाए और उन्हे बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएं। आपको बता दे कि बीते कई सालों से राजस्थान में शिषु मृत्यु दर सरकार के लिए एक सिर दर्द बन गई थी हालांकि इसमें सुधार हुआ है पहले जंहा यह मृत्यु दर 41 प्रतिशत थी अब यह 35 प्रतिशत हो गई। लेकिन इस समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए ही Navjaat Suraksha Yojana 2020 तैयार की गई है।

नवजात सुरक्षा योजना के लाभ

  • मदर केयर तकनीक आम जन तक पहुंचे इसके लिए 77 मास्टर ट्रेनर रखे जाएंगे जो हर नगर में जा कर स्वास्थ्य केयर के कर्मचारियों को इसकी ट्रेनिंग देंगे।
  • योजना के जरिए शिशुओं को सुरक्षित और स्वास्थ्य रखा जाएगा।
  • नवजात सुरक्षा योजना की मदद से शिशुओं की मृ्त्यु दर में कमी आएगी।
  • आम जन तक स्वास्थ्य संबंधी जानकारी आसानी से पहुंच जाएगी।
  •  राज्य में IMR और मातृ मृत्यु दर (MMR) को कम करने के लिए Nirogi राजस्थान अभियान पहले ही शुरू कर दिया गया है।

नवजात सुरक्षा योजना के लिए आवेदन कैसे करें | Navjaat Suraksha Yojana, How to Apply Online

Navjaat Suraksha Yojana के तहत अगर आप आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अभी थोड़ा इंतजार करना होगा। इस योजना की केवल अभी घोषणा की गई है और इसे पूरी तरह कामयाब बनाने के लिए काम शुरू हो चुका है। हालांकि जैसे ही यह योजना जमीनी स्तर पर उतरने के लिए तैयार होगी, तो आप इस योजना से जुड़ी ऑफिशियल साइट पर ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे।

यह भी पढे :- श्रमिक / मजदूरी कार्ड (Labour card ) केसे बनवाये

सम्बंधित प्रश्न और उत्तर

Rajasthan Navjaat Suraksha Yojana की घोषणा कब हुई ?

योजना की घोषणा 9 फरवरी 2020 को हुई

इस योजना में आवेदन की क्या प्रक्रिया है?

आवेदन ऑनलाइन ही लिए जाएंगे, विभाग द्वारा ऑनलाइन आवेदन सम्बंधित अभी जानकारी साझा नहीं की गई हैइस योजना का उद्देश्य क्या है?

इस योजना का उद्देश्य शिशु मृत्यु दर को कम करना है